कुत्तों और भेड़ियों के बीच सात अंतर क्या हैं जो ज्यादातर लोग नहीं जानते हैं?

1 कुत्तों में एक एंजाइम पैदा करने की क्षमता होती है जो उन्हें स्टार्च वाले पौधों से पोषक तत्व प्राप्त करने की अनुमति देता है, भेड़ियों में इस एंजाइम की कमी होती है। यही कारण है कि भेड़ियों और भेड़िया-कुत्तों के हाइब्रिड को आमतौर पर पारंपरिक छोटे छोटे अनाज के टुकड़े को नहीं खिलाया जा सकता है , जबकि कई कुत्ते इसको आसानी से खा सकते हैं और पचा सकते हैं ।

कुछ कुत्तों में रियर ड्वेलक्लाव होते हैं जबकि किसी जंगली भेड़िये के पीछे ड्वेलक्लाव नहीं होता है । इन अतिरिक्त पंजे का उपयोग कभी-कभी यह निर्धारित करने के लिए किया जाता है कि कोई जानवर एक संरक्षित भेड़िया या जंगली कुत्ता या कुत्ता-भेड़िया हाइब्रिड है या नहीं ।

कुत्ते और भेड़िये दोनों भौंकते हैं – लेकिन भेड़िये परिपक्व होने पर भौंकना बंद कर देते हैं। कुत्ते भौंकते हैं क्योंकि वे कभी परिपक्व नहीं होते …

भेड़ियों के विपरीत, पुरुष कुत्ते आमतौर पर अपने वंश को बढ़ाने में मदद नहीं करते हैं अगर कुत्ते आवारा या जंगली हैं। इसका अपवाद डिंगो है जिसका छोटा -परिवार संरचना भेड़ियों के समान है।

भेड़ियों को गर्मी (कामोन्माद ) प्रति वर्ष देर से सर्दी / वसंत में आती है जबकि लगभग सभी कुत्तों की नस्लें साल में दो बार गर्मी में आती हैं और किसी भी मौसम में कुत्ते गर्मी में आ सकते हैं।

हैरानी की बात है कि कई स्वास्थ्य स्थितियां जो विशुद्ध कुत्तों में होती है वो भेड़ियों में भी पाई जाती हैं। इनमें हिप डिस्प्लाशिया और progressive retinal atrophy शामिल हैं। इससे पता चलता है कि ऐसी स्थितियां चयनात्मक प्रजनन के कारण नहीं हैं, लेकिन वर्चस्व शुरू होने से पहले ही आबादी में उत्परिवर्तन के रूप में मौजूद थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »