किसी बड़ी इमारत को बनाते समय उसे चारों तरफ से तिरपाल या अन्य आवरण से ढक कर क्यों बनाया जाता है? जानिए वजह

क्या आप कल्पना कर सकते हैं कि छोटा 10 ग्राम पत्थर का एक टुकड़ा, या एक लोहे का कील आपके सिर पर 50 मीटर की ऊंचाई से गोली की तरह गिरे तो क्या होगा ???

जी हा!

एक छोटा पत्थर या एक लोहे का कील किसी व्यक्ति का जान ले सकता हैं !!!

जब यह उपर से गिरता हैं तो बुलेट की गति से नीचे आता हैं, जिससे टकराता है उसे उतनाही हानि पहुँचाती हैं! अकसर उपर से गिरने वाला सामग्री बिल्डिंग क्षेत्र से दूर में जाकर गिरता हैं, अधिकतर रोड पर चलने वाला गाड़ी या इंसान के उपर गिरता हैं, वे लोग हेलमेट नही पहने होते हैं।

निर्माण उद्योग ने हाल के वर्षों में कई गुना परिपक्व हुया है, मुख्य रूप से भारत में। निर्माण स्थल खतरनाक जगह है। कई अप्रत्याशित घटनाएं यहां घटती रहती हैं। जब मजदूर ऊंचाई पर काम करते हैं, तो दुर्घटना हो सकती है। हात से हथौड़ा या कील छूट सकता हैं और अचानक यह बिल्डिंग के बाहर चला जाता हैं तो किसी भी दुर्घटना घट सकती है। एक बड़े साइट में हज़ारो मज़दूर काम करता हैं। यह कर्म भूमि है, यहा लोग रोज़ी-रोटी कमाने आते हैं, जिबन गवाने नही।अगर किसी दुर्घटना के कारण साइट में काम एक रोज बन्ध होता है तो लाखो का नुकसान होता हैं। “सुरक्षा” एक साइट की अहम हिस्सा हैं। किसी भी कीमत पर इसे नज़र अंदाज नही किया जाता हैं। उची इमारत निर्माण में सुरक्षा का एक हिस्सा होता हैं बिल्डिंग को चार तरफ से कवर करना। निम्नलिखित कारक के लिए यह किया जाता हैं:

  • यह छिंटक कर बाहर जाने वाला सामग्री को निर्माण क्षेत्र के भीतर रखता है।
  • यह फर्श पर पड़े धूल को उड़ने से रोकने में मदद करता है।
  • यह उन मजदूरों की हवा, धूप और बारिश से रक्षा करता है जो ऊंचाई पर बाहर में काम करते हैं।
  • यह इमारत के लिए एक अवरोधक के रूप में भी कार्य करता है और मानसिक सहायता प्रदान करता है जिसे ऊंचाई का डर होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »