ओडिशा के 7 साल के बच्चे ने पास की माइक्रोसॉफ्ट की ये परीक्षा, लोग कह रहे ‘वंडर किड’

ओडिशा के 7 साल के बच्चे ने पास की माइक्रोसॉफ्ट की ये परीक्षा, लोग कह रहे ‘वंडर किड’

ओड‍िशा के इस बच्‍चे से मिल‍िए महज साल की उम्र में इसने वो परीक्षा पास कर दी है, जिसे क्‍लीयर करने में लोगों के पसीने छूट जाते हैं.

ओडिशा के बोलांगीर जिले में मात्र 7 साल के वेंकट रमन पटनायक ने गजब कारनामा कर दिखाया है. इस बच्चे के टैलेंट को देखकर लोग इसे ‘वंडर किड’ का खिताब दे रहे हैं. आइए जानें- इसमें ऐसी क्‍या खास बात है.

दरअसल तीसरी कक्षा के इस छात्र ने माइक्रोसॉफ्ट प्रौद्योगिकी एसोसिएट (MTA) परीक्षा को पास करके इतिहास रच दिया है. खास बात यह है कि वो स्कूल नहीं जाता है बल्‍कि वो घर से ही होम स्‍कूल‍िंग के जरिये पढ़ाई कर रहा है.

पिता ने क्या कहा अपने बेटे के बारे में
बेटे ने इतनी कम उम्र में इतनी कठ‍िन परीक्षा पास की है, इसका क्रेड‍िट उनके पिता कुलदीप पटनायक को भी जाता है जो उसके मार्गदर्शक बने. बता दें क‍ि तीसरी क्लास के स्कूली छात्र वेंकट रमन पटनायक ने जावा (Java), जावास्क्रिप्ट (Javascript), पायथन (Python), एचटीएमएल (HTML), सीएसएस (CSS) और डेटाबेस एडमिनिस्ट्रेशन फंडामेंटल्स (database administration fundamentals) में प्रोग्रामिंग के लिए एमटीए परीक्षा (MTA Exam) क्लियर किया है.

क्या क्या हासिल किया
वेंकट ने मार्च 19 में व्हाइटहैट जूनियर ज्वाइन की थी और अब तक लगभग 160 क्लास में भाग ले चुके हैं. उसने पहले दिन से कोडिंग में अपना इंट्रेस्ट दिखा दिया था. बहुत कम तैयारी के बलबूते वेंकट रमन पटनायक ने माइक्रोसॉफ्ट प्रौद्योगिकी एसोसिएट (MTA) परीक्षा को पास किया.

बता दें क‍ि प्रौद्योगिकी (Technology) में अपना करियर बनाने के इच्छुक कैंडिडेट्स के लिए MTA वैश्विक स्तर पर मान्यता प्राप्त एक सर्टिफिकेट कोर्स है. वेंकट ने महज छह माह की तैयारी से इस परीक्षा पास क‍िया है. MTA परीक्षा पास करने के लिए और कोडिंग में कौशल विकसित करने में उन्हें 6 महीने का समय लगा. उनके माता-पिता ने बताया कि वेंकट सीखने में हर दिन लगभग 10-12 घंटे बिताते हैं और अंतरिक्ष विज्ञान, रुबिक क्यूब, कैरम, क्रिकेट और साइकिलिंग के भी शौकीन हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *