इलायची की खेती हमारे देश में सबसे ज्यादा कहाँ पर की जाती है?

इलायची को मसालों की रानी कहा जाता है। हम इसे कई प्रकार की मिठाइयों और व्यंजनों को बनाते समय स्वाद बढ़ाने के लिए मसाले के रूप में उपयोग करते हैं। इलायची का इस्तेमाल चाय बनाते समय भी किया जाता है। इलायची में कई औषधीय गुण भी होते हैं।

भारत में इलायची तमिलनाडु, केरल और दक्षिण में कर्नाटक से अधिक प्रचलित है। इलायची की खेती देश के कई अन्य हिस्सों में भी की जाती है। इलायची की खेती अत्यधिक लाभदायक मानी जाती है, क्योंकि इलायची महंगी बिकती है।

इलायची की खेती के लिए मुख्य रूप से लाल दोमट मिट्टी सबसे उपयुक्त है। इसके अलावा, इसकी देखभाल उचित देखभाल के तहत कई अन्य प्रकार की मिट्टी में की जा सकती है। इलायची की खेती के लिए भूमि का PH मान 5 से 7.5 के बीच होना चाहिए।

जलवायु और तापमान

उष्णकटिबंधीय जलवायु मुख्य रूप से इलायची की खेती के लिए उपयुक्त है। लेकिन वर्तमान में इसे भारत के कई हिस्सों में उगाया जा रहा है। इलायची की खेती समुद्र तल से 600 से 1500 मीटर की ऊंचाई वाले स्थानों पर भी की जा सकती है। इसकी खेती के लिए 1500 मिमी बारिश होना आवश्यक है। इलायची की खेती के लिए हवा में नमी और छायादार स्थान होना आवश्यक है।

इलायची की खेती के लिए सामान्य तापमान की आवश्यकता होती है। लेकिन सर्दियों में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री और गर्मियों में अधिकतम 35 डिग्री पर भी, पौधे अच्छी तरह से बढ़ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »