आप आटे और गोंद के लड्डू घर में कैसे बनाते हैं?

बुजुर्ग लोग कहते है कि सर्दियों में हम जो कुछ भी खाते है, वह शरीर में लगता है और शरीर को दुरुस्त रखता है।

सर्दियों में कई तरह के लडडू बनाए जाते है, जैसे: मेथी, ड्राई फ्रूट, आंटे के गोंद के लड्डू, उरद दाल लड्डू आदि।

लेकिन आटे के गोंद लड्डू मुख्य है, जो सर्दियों में प्रायः हर घर में बनाए जाते है, जिन्हे बच्चे और बूढ़े सब पसंद करते हैं।

जो इस प्रकार बनाए जाते है।

ये लड्डू नॉर्मल गेहूं के आटे की अपेक्षा मोटा गेहूं के आटे के अच्छे बनते है।

अगर आपके पास मोटा गेहूं का आटा नही है, तो नॉर्मल आटे में थोड़ी सूजी भी डाल सकते है।

देशी घी ( आटे के अंदाज से)

ड्राई फ्रूट्स ( काजू, बादाम,पिस्ता, और जो मेवा आप डालना चाहे) लोग अक्सर गोंद के लडडू में किशमिश डाल देते है,, जो नहीं डालनी चाहिए क्योंकि उसकी तासीर ठंडी होती है। लड्डू में गरम चीजे ही डालनी चाहिए।

गोंद

काली मिर्च ( थोड़ी)

पिसी चीनी ( बूरा)

विधि: गोंद को एक दिन पहले धूप दिखा लें।ताकि वह सीले नहीं।लड्डू बनाने की तैयारी एक दिन पहले कर लें। मेवा काट कर रख लें।( कुछ लोग मेवा भून कर डालते है) लेकिन मै नहीं।

जितने आपको लड्डू बनाने है, उसी हिसाब से मोटा आटा ले लें। कढ़ाई में घी डालें, सबसे पहले गोंद सेकने की तैयारी करें। ( यहां आप को बता दें, कि गोंद डीप फ्राई होता है) पहले घी गरम करके थोड़ा सा गोंद का टुकड़ा डालें, अगर गोंद फूलने लगे, तो समझ लें, घी गरम है गोंद सेकने लायक है।गोंद एक दम सारा नहीं डालें, क्योंकि गोंद सेकने पर डबल हो जाता है इसलिए थोड़ा थोड़ा सेंके। आंच को धीमा रखें। गोंद सेक कर साइड रखें। ( गोंद को एक समतल कटोरी की सहायता से, या लोटे की तली से, या चम्मच से मसल लें)

लड्डूओं में घी नॉर्मल से थोड़ा ज्यादा ही पड़ता है, लेकिन ध्यान रहे, कि गोंद में भी घी रहता है।

कढ़ाई में आटे के हिसाब से घी डालें और धीमी आंच पर आटा भूनना शुरू करे। जब आटा ब्राउन कलर में सिक गया है, तब इसमें गोंद डाल दें, फिर थोड़ा चलाने के बाद में ड्राई फ्रूट्स डाल दें।( क्योंकि ड्राई फ्रूट्स कच्चे रहते है, गरम आटे के साथ ही सिक जाते है) फिर थोड़ी साबुत काली मिर्च डाल दें।( गोंद के लडडू में काली मिर्च डालना, शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है) जिस तरह हम लोग जीरे का इस्तेमाल सब्जी में करते है( ना ज्यादा ना कम, बाकी स्वादानुसार) उसी तरह लड्डू में करना चाहिए।

फिर थोड़ा ठंडा होने पर स्वादानुसार बूरा या पिसी चीनी मिलाकर आप लड्डू बना सकते है।

नोट: कुछ लोग लड्डू में कसा सूखा नारियल और ना जाने क्या क्या मेवा डालते है, लेकिन हमको सर्दियों में ठोस चीजे ही खानी चाहिए, जो शरीर में लगे और खास कर वह चीजें जो हम गर्मी में नहीं खा सकते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »