आज के युग में ईमानदार व्यक्ति ही देवता है

आज का विषय ईमानदारी के महत्व को व्यक्त करता है क्योंकि बदलते हुए समय के साथ यह गुण कही न कही खोता जा रहा है।इसलिए यह कहना गलत नहीं होगा की आज के युग में ईमानदार व्यक्ति ही देवता के समान है,ज़्यादातर लोग छोटा रास्ता अपना कर सफल होने का प्रयास करते हैं और यही से शुरू होता है झूठ बोलने का सिलसिला।

तप कर निखरने वाला व्यक्ति मेहनत के महत्व को पहचानकर सही रास्ते पर चलता है क्योंकि वह जानता है की आज उसका आकलन उसके मेहनत के बल पर है यदि वह बेईमानी और झूठ के साथ जीवन में कार्य करेगा तो वह न तो कभी सफल होगा और न तो कभी विश्वसनीय, क्योंकि कोई भी अवगुण हो वह व्यक्ति को गलत दिशा में लाने का प्रयास करती है।

जिस प्रकार से हम बहुत सी ज़रूरतों के लिए दूसरों पर निर्भर रहते हैं और हमेशा विश्वास करते है उस प्रकार से यदि कोई हमारी उम्मीदों पर खरा साबित होता है तो यह हमारे लिए बहुत अच्छी बात होगी।हम खाने और पीने की चीज़ों को बाहर से खरीद कर लाते हैं और हमारे बच्चों का दूध भी बाहर से आता हैं इन परिस्थितियों में हमे हमेशा डर बना रहता है की हम और हमारा परिवार सुरक्षित रह सके और हम परेशानियों से बच सके,इसलिए अगर कोई ईमानदारी के साथ आपकी हिफ़ाज़त कर रहा है तो आपके लिए वह देवता के समान ही मूल्यवान है।

मनुष्य की ईमानदारी मनुष्य को एक चमकते सितारे की तरह से ख्याति दिला कर उत्कृष्ट परिणाम प्रदान करती है क्योंकि ईश्वर स्वयं हर समय सही का साथ देते हैं।आज भले ही सच्चे और ईमानदार लोग कम है परंतु है ज़रूर और यह दुनिया तभी तक कायम है जब तक की ईमानदारी ज़िंदा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »