अमेरिका युद्ध में चीन को कितने दिन में निपटा सकता है? इससे भारत को क्या फायदा होगा?

अगर चीन और अमेरिका के बीच जंग छिड़ी तो क्या होगा? अमेरिका और चीन में युद्ध के हालात बन सकते हैं| इसीलिए दोनों देशों की सैन्य ताकत को जानना समझना जरूरी है|

रैंक की बात करें तो अमेरिका पहले नंबर पर है जबकि चीन तीसरे नंबर पर है| अमेरिका के पास 14 लाख सैनिक हैं जबकि चीन के पास 21 लाख 83 हज़ार सैनिक हैं| अमेरिका के पास कॉम्बैट एयरक्राफ्ट 2085 और चीन के पास इसकी संख्या 1232 अमेरिका के पास अटैक हेलिकॉप्टर 967 और चीन के पास 281 अटैक हेलिकॉप्टर, अमेरिका के पास टैंक 6289 जबकि चीन के पास 3500, अमेरिका के पास हैं 715 जबकि चीन के पास 371 जंगी जहाज़ हैं और परमाणु बमों की बात करें तो अमेरिका के पास 6185 जबकि चीन के पास सिर्फ 290 परमाणु बम मौजूद हैं|

चीन की शक्ति का मुकाबला करने के लिए अमेरिकी समर्थन भारत की आवश्यकताएं हैं। सबसे महत्वपूर्ण, सीधे चीन की सैन्य, आर्थिक और कूटनीतिक शक्ति से भारत को बचाना है। भारत के पास काफी सैन्य शक्ति है और 1962 की तुलना में आज बेहतर है|

चीन लगभग चार गुना खर्च करता है जितना भारत अपनी सेना पर करता है; वास्तव में, चीन एशिया में अन्य सभी प्रमुख शक्तियों की तुलना में अधिक खर्च करता है। अमेरिकी खुफिया सहायता भारतीय प्रयासों को बढ़ावा दे सकती है, और बहुपक्षीय मंचों में चीन को रोकने के लिए अमेरिकी राजनयिक मदद आवश्यक होगी। इसके लिए अमेरिका के साथ दीर्घकालिक साझेदारी की आवश्यकता है, इसके बावजूद कि व्हाइट हाउस में कौन है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Do NOT follow this link or you will be banned from the site!
Translate »