अंगूठे से होंगे बैठे पैसे ट्रांसफर एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट

भारत में काफी सारे उपभोक्ता पैसों का लेनदेन अकाउंट के माध्यम से करते हैं। जिसमें वह बैंक जाकर पैसे को इधर से उधर ट्रांसफर करते हैं। और एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट में ट्रांसफर करते हैं। ऐसे में उन उपभोक्ताओं के लिए काफी बेहतर सुविधा आ चुकी है। जिसमें वह नेट बैंकिंग के थ्रू अंगूठा स्कैन करके एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। जिसमें उन्हें काफी ज्यादा सहूलियत मिलेगी अब आपको बैंक की लंबी-लंबी लाइनों में लगकर पैसे ट्रांसफर करने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

और आप अपने पास के ही किसी जन सुविधा केंद्र से पैसों का नेट बैंकिंग के थ्रू पैसों का ट्रांसफर कर सकते हैं। वैसे तो यह तकनीक काफी पहले आ चुकी है। लेकिन काफी सारे उपभोक्ताओं को इसके बारे में नहीं पता है। भारत में बहुत सारे लोग पैसे ट्रांसफर करने के लिए बैंक का उपयोग करते हैं लेकिन इस सुविधा के माध्यम से आप अपने आसपास के जन सुविधा केंद्र से ही पैसों का ट्रांसफर कर सकते हैं। भारत में दिन-ब-दिन नई से नई तकनीक आ रही है।

जिसमें लोगों की जरूरत को लेकर अलग-अलग सुविधाएं जोड़ी जा रही हैं। भारत में आई ऐसी ही तकनीक में से यह एक ऐसी तकनीक है। इसके माध्यम से आप बहुत ही कम समय में एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट में पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। भारत में और भी कई ऐसी सुविधाएं आने वाली है। जिसकी मदद से आप कई सारे कार्य आसानी से कर सकते हैं और भारत के इंजीनियरों के द्वारा ऐसी तकनीक बनाने की कोशिश लगातार जारी रहती है।

जिसमें 1 लोगों के काम को आसान बना सकें भारत आज के टाइम पर काफी ज्यादा विकसित देश में से एक देश माना जाता है जो कि अपनी टेक्नोलॉजी पर काफी ज्यादा चर्चित हो चुका है। और भारत में आगे चलकर आपको इससे भी बड़ी तकनीक से बनी सुविधाएं देखने को मिलेंगी और भारत काफी ज्यादा तकनीकी देशों की लिस्ट में शामिल हो चुका है। भारत के माध्यम से अभी हाल ही में प्रोसेसर से डिजाइन किया गया जो कि भारत के आईआईटी मद्रास ने डिजाइन किया है। इस प्रोसेसर के माध्यम से आप अपने काम को काफी आसान कर सकते हैं। और जब भारत का खुद बनाया गया प्रोसेसर होगा जो कि आप आप भारतीय स्मार्टफोन में भी देखने को मिलेगा और या अन्य देशों में भी देखने को मिल सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »